Sad SMS in Hindi

  1. ये सोच कर पलकों में छुपा लेता हूँ आंसू, गिर कर ये मेरी आँख से मेरी तरह तनहा न हो जाएँ...!!!
  2. चेहरे “अजनबी” हो जाये तो कोई बात नही, लेकिन रवैये “अजनबी” हो जाये तो बडी “तकलीफ” देते हैं ! 
  3. एक दिन हमारे आंसूं हमसे पूछ बैठे, हमे रोज़ रोज़ क्यों बुलाते हो, हमने कहा हम याद तो उन्हें करते हैं, क्या पता क्यों तुम चले आते हो..!!
  4. मेरी तन्हाई को मेरा शौक़ मत समझो, ये तन्हाई भी किसी का दिया हुआ एक "तोहफा" है..!!
  5. मेरी ज़िन्दगी का खेल शतरंज से भी मज़ेदार निकला. मैं हारा भी तो अपनी ही रानी से..!!
  6. तेरे आने से क्या मिला मुझको तेरे जाने के बाद जाना है, टूट कर तुझको दिल ने चाहा था टूट कर आज दिल ने जाना है..!!
  7. खामोश हूँ में लेकिन इंकार तो नहीं है, मेरी नाकामयाबी है कोई हार तो नहीं है हम तुम्हे पा न सके तो क्या हुआ, लेकिन सिर्फ तुम्हे पा लेना प्यार तो नहीं है..!!
  8. सिर्फ वक्त ही गुजारना था तो किसी और को अपना बना लेते, तुम्हें बताया था हम प्यार करते हैं इबादत की तरह..!!!
  9. उन्हें मेरी वफाओं का ख्याल आया तो पर देर से आया, मिटा कर वो मुझे अब मेरी कमी महसूस करती है…!!
  10. बहाती है अश्क  हर रोज़ मेरी तलाश में याद करके मेरे प्यार को वो पल पल मरती है!!
  11. देख लेते है लोग आँखों से दिल की हालत, मुझसे अब तेरे दिए दर्द की हिफाज़त नहीं होती...!!!! 
  12. बीते लम्हों की यादें संभाल कर रखना, हम याद तो आएंगे लेकिन लौट कर नहीं..!!!!
  13. आज तेरी याद को सीने से लगा कर रोये, अपने ख्वाबों में तुझे पास बुला कर रोये,
  14. हज़ारों बार पुकारा तुम्हे तनहाइयों में, और हर बार पास न पा कर रोये.
  15. में तेरी दुनिया से चला जाऊं ये तेरी दुआ थी, और तेरी हर एक दुआ कबूल हो ये मेरी...
  16. वो कहती हैं भुला दो पुरानी बातों को, कैसे समझाऊँ उसे की इश्क़ कभी पुराना नहीं होता...!!!
  17. वो बेवफा थी या यूँही बदनाम हो गयी, हज़ारों चाहने वाले थे किस किस से वफ़ा करती....!!
  18. मौत के आगोश में सोने को जी करता है, दिल खो दिया अब ज़िन्दगी खोने को जी करता है, उसकी याद आती है जब भी मुझे, जाने क्यों तनहा बैठ के रोने को जी करता है..!!
  19. तू भी आईने की तरह बेवफा निकली, जो सामने आया तेरे उसी की हो गयी....!!
  20. मुझे पसंद था हर झूठ उसके होंठों से, वो सच न बोलता तो कितना अच्छा था...!!
  21. आँखों में आ जाते है आंसू, फिर भी लबों पे हसी रखनी पड़ती है, ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है, जिस से करते है उसी से छुपानी पड़ती है...!!!
  22. फिर नहीं बसते वो दिल जो एक बार उजड़ जाते है, जनाजे को कितना भी संवारो उसमें रूह नहीं आती...!
  23. हर शख्स मुझे जिंदगी जीने का तरीका बताता है, कैसे समझाऊँ की एक ख़्वाब अधूरा है मेरा, वरना जीना तो मुझे भी आता है...!!!
  24. रात जब  भी और गहरी होती है, तो तन्हाई मुझ से रो रो कर कहती है, अब सो जाओ कोई नहीं रहा यहाँ तुम्हारा मेरे सिवा फिर क्यों तुझे छोड़ के जाने वाले की तलाश रहती है....
  25. दो कदम तो सब चल लेते हैं पर, ज़िन्दगी भर का साथ कोई नहीं निभाता, अगर रो कर भुलाई जाती यादें, तो हंस कर कोई गम नहीं छुपाता...!!!

No comments:

Post a Comment